Public News Live

JNU कैंपस में रामनवमी पर हुए झगड़े को लेकर केंद्र सरकार ने जेएनयू से मांगी रिपोर्ट

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (MoE) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) कैंपस में रामनवमी के अवसर पर छात्रों के गुट के बीच हुई झड़प और अशांति को लेकर जेएनयू प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है।

दरअसल, जेएनयू के कावेरी हॉस्टल में विद्यार्थियों के दो गुट रामनवमी के दिन मांसाहार परोसने को लेकर भिड़ गए थे। इस घटना में कई छात्र घायल हुए हैं।

MoE के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मानक प्रक्रियाओं के अनुसार, राम नवमी के अवसर पर छात्र समूहों के बीच झड़प और परिसर में अशांति के बारे में औपचारिक रिपोर्ट मांगी गई है।

मेस में रामनवमी पर कथित तौर पर मांसाहारी भोजन परोसने को लेकर छात्रों के दो समूह रविवार को कावेरी छात्रावास में भिड़ गए थे, पुलिस ने कहा कि हिंसा में 20 छात्र घायल हो गए।

दोनों छात्र गुटों ने सोमवार को एक-दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जबकि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने दावा किया कि कुछ छात्रों द्वारा हवन पर आपत्ति जताए जाने के बाद हिंसा हुई थी।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) प्रशासन ने भी छात्रों को परिसर में किसी भी तरह की हिंसा में लिप्त पाए जाने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी है।

वाम समर्थित जेएनयू छात्रसंघ और आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने एक दूसरे पर हिंसा का आरोप लगाया है। वाम संगठन ने दावा किया है कि उसके 50 सदस्य घायल हुए हैं जबकि एबीवीपी का कहना है कि उसके 10-12 कार्यकर्ता चोटिल हुए हैं।

वामपंथी विचारधारा वाले अखिल भारतीय छात्र संघ (आइसा) से जुड़े जेएनयू के सैकड़ों छात्रों ने सोमवार को दिल्ली पुलिस मुख्यालय के पास विरोध प्रदर्शन किया और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्यों को विश्वविद्यालय में हुई हिंसा में उनकी कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार करने की मांग की।

publicnewslive
Author: publicnewslive

[the_ad id="228"]

इन्हे भी जरूर देखे