publicnewslive

कानपुर: सुहागरात पर सो गई दुल्हन, गुस्साए दूल्हे ने लात घुसे और बेल्ट से पीटा

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, यहां सुहागरात पर दुल्हन के सो जाने से दूल्हे को गुस्सा आ गया और उसे लात घूसे व बेल्ट से पीटकर घायल कर दिया।

दुल्हन के पिता की सूचना पर पुलिस दूल्हे को थाने ले गई। जहां दोनों पक्ष के बीच समझौते की बात चल रही है।

मामला जिले के मंगलपुर थाना क्षेत्र का है, जहां एक गांव की युवती का वहीं के निवासी युवक के साथ सोमवार को निकाह हुआ था। रात आठ बजे दुल्हन की विदाई हुई और वह दूल्हे के घर पहुंच गई। रात में दुल्हन को नींद आ गई। इसी बात से नाराज दूल्हे ने उसे लात घूसे व बेल्ट से बुरी तरह पीट-पीट कर घायल कर दिया। सुबह दुल्हन की सूचना पर उसके पिता ने मंगलपुर थाने में सूचना दी।

इस पर गांव पहुंची पुलिस दूल्हे को थाने ले आई। इधर, दुल्हन को उसके परिजन थाने ले आए। थाना प्रभारी एसके मिश्र ने बताया कि शिकायत पर युवक को थाने पर लाया गया था। दोनों पक्षों में समझौते की बात चल रही है। अभी किसी पक्ष की ओर से तहरीर नहीं मिली है।

publicnewslive
Author: publicnewslive

इन्हे भी जरूर देखे

बिजली कटौती पर सीएम योगी का कड़ा रुख, अधिकारियों को दिया यह आदेश
लखनऊ
=======मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऊर्जा विभाग और पावर कारपोरेशन के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बिजली कटौती बंद करें। सभी क्षेत्रों को निर्धारित रोस्टर (शिड्यूल) के मुताबिक बिजली की आपूर्ति हर हाल में की जाए। इसके लिए जो भी व्यवस्था करनी हो करें। जरूरत है तो अतिरिक्त बिजली खरीदने की व्यवस्था करें।
मुख्यमंत्री ने सोमवार को ऊर्जा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। सीएम ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से प्रदेश के कई क्षेत्रों में निर्धारित रोस्टर के अनुसार बिजली आपूर्ति न होने की शिकायतें मिल रही हैं। यह बैठक इसी मुद्दे पर बुलाई गई।
मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिए कि ऊर्जा विभाग व पावर कॉर्पोरेशन यह सुनिश्चित करे कि पूर्व निर्धारित रोस्टर के अनुसार सभी क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति हो। इस मामले में यूपीपीसीएल की लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी। तेज गर्मी, लू का मौसम चल रहा है। ऐसे में गांव हो या शहर, कहीं भी अनावश्यक बिजली कटौती न हो।
मुख्यमंत्री ने नगरों में स्मार्ट मीटर लगाने की कार्यवाही में तेजी लाने को कहा। हर गांव-हर घर में बिजली का उजियारा होना चाहिए। बिजली के क्षेत्र में व्यापक सुधार की जरूरत है। यह भी कहा कि बिजली आपूर्ति होती रहे इसके लिए बिल का भुगतान जरूरी है। हर उपभोक्ता की यह ज़िम्मेदारी है कि वह समय से बिजली बिल का भुगतान करें। ऊर्जा विभाग बकायेदारों से लगातार संपर्क करें, संवाद करें। गांवों में स्वयं सहायता समूहों / बीसी सखी के जरिये बिल संकलन के लिए विचार करें। यह सुनिश्चित किया जाए कि एक भी उपभोक्ता को गलत बिजली बिल न मिले और सभी को समय से बिल मिल जाए। ओवरबिलिंग अथवा विलंब से बिल दिया जाना उपभोक्ता को परेशान तो करती ही है, व्यवस्था के प्रति निराश भी करती है।
मुख्यमंत्री ने बिजली चोरी करने वालों के विरुद्ध पूरी सख्ती से कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने कहा कि बकायेदारों के लिए एकमुश्त समाधान की योजना लागू की जानी चाहिए। बिजली उत्पादन के लिए कोयले की उपलब्धता सतत बनाये रखी जाए। अभी हमारे पास कोयले की कमी नहीं है, किंतु मांग के अनुरूप कोयले की आपूर्ति सुगम बनी रहे, इसके लिए भारत सरकार से सतत संवाद बनाए रखें।

error: Content is protected !!