Public News Live

शिक्षिका हत्याकांड: बेहद क्रूरता से की गई थी गर्भवती की हत्या, धारदार हथियार से किए गए थे ताबड़तोड़ 16 वार

शिक्षिका हत्याकांड: बेहद क्रूरता से की गई थी गर्भवती की हत्या, धारदार हथियार से किए गए थे ताबड़तोड़ 16 वार

#अयोध्या। अयोध्या कोतवाली अन्तर्गत एक जून को हुई गर्भवती शिक्षिका की हत्या पुलिस के लिए अनसुलझी पहेली बनी हुई है। वारदात के पांच दिन बाद भी पुलिस को कोई कामयाबी नहीं हासिल हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बड़ा खुलासा यह हुआ है कि हत्यारों ने बड़ी बेरहमी से वारदात अंजाम दी। क्रूरता की हदें पार करते हुए गले और आसपास 16 से अधिक वार किए। पुलिस के मुताबिक पूरी वारदात 22 मिनट में अंजाम दे हत्यारे फरार हो गए।
शिक्षिका सुप्रिया वर्मा हत्याकांड में पुलिस के हाथ अभी कुछ नहीं लगा है जिसके सहारे वह एक कदम भी आगे बढ़ सके। यही वजह है कि अभी तक पुलिस हवा में ही हाथ पांव मार रही है। कोतवाल देवेंद्र पांडेय के मुताबिक हत्या नफरती अंदाज में की गई है। सीसीटीवी से जो फुटेज मिले हैं उसमें भी घटनाक्रम के दौरान निमार्णाधीन मकान में कोई आता-जाता नहीं दिखाई दे रहा है।
इसी के चलते क्लू तलाश करने में पुलिस की टीमें जुटी हैं। उन्होंने पुष्टि की कि शरीर पर 15 से 16 वार पाए गए हैं। गर्दन के पीछे और आगे दोनों तरफ ही नहीं, बल्कि गर्भवती सुप्रिया के पेट पर भी वार किए गए। बताते हैं कि शिक्षिका सुप्रिया की मां को लेकर उसका पति 10 बजकर 52 मिनट पर एटीएम कार्ड लेने बैंक गया था। वह 11 बजकर 14 मिनट पर वापस आया। इसके मुताबिक वारदात इसी बीच 22 मिनट में अंजाम दी गई।

▪️मकसद लूटना नहीं सिर्फ हत्या करना था।

पुलिस की माने तो कातिलों का मकसद लूटना नहीं, बल्कि हत्या करना था। जिस तरह नुकीले और धारदार हथियारों का प्रयोग हुआ, यह बताता है कि हत्यारों के अंदर कितनी क्रूरता और नफरत रही होगी। इसी का कारण पुलिस तलाश कर रही है।
सीसीटीवी में केवल उसके पति के ही जाने और आने की फुटेज मिली है। जिसके चलते पुलिस बुरी तरह से उलझ कर रह गई है। हालांकि कोतवाल का दावा है कि शीघ्र खुलासा कर लिया जाएगा। बता दे कि प्राथमिक प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक एसोसिएशन ने भी पुलिस को मंगलवार तक की मोहलत दी है।

publicnewslive
Author: publicnewslive

[the_ad id="228"]

इन्हे भी जरूर देखे