Public News Live

वीर की शहादत पर अर्थी को कन्धा देके, अब शम्शान तक भी जाने लगी बेटियाँ।।

“अब तो श्मशान तक भी जाने लगीं बेटियां”
अयोध्या।
जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पे पड़ा तो, ऑटो रिक्शा, ट्रेन को चलाने लगी बेटियाँ।
वीर की शहादत पर अर्थी को कन्धा देके, अब शम्शान तक भी जाने लगी बेटियाँ।।
इस कहावत को चरितार्थ करते हुए मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के मरूई गनेशपुर पूरे बुच्चू तिवारी में अवधराज तिवारी की तीन पुत्रियां अपने कैंसर पीड़ित पिता की कई महीनों की सेवा के बाद जब उनकी मृत्यु पर अर्थी को कंधा लगाया तो वहाँ मौजूद हर किसी की आँखें भर आयीं और लोगों के मुँह से बरबस निकल पड़ा कि बेटियां किसी भी मायने में बेंटों से कम नहीं हैं। यह नजारा शनिवार को मिल्कीपुर तहसील के मरुई गनेशपुर गांव में देखने को मिला।
बताते चलें कि मरूई गणेशपुर निवासी अवधराज तिवारी के मात्र तीन बेटियां हैं। बेटा नहीं है। वह कई महीनों से कैंसर जैसी भयंकर बीमारी का दंश झेल रहे थे। शनिवार को जब उनकी मृत्यु हुई, तब बेटियों ने पिता की अर्थी की कंधा लगाकर मुखाग्नि दी और दिखाया कि समाज की भ्रांतियों से ऊपर उठकर बेटियों को एक नए समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी पड़ेगी।
दरअसल हिंदू रीति रिवाज के अनुसार बेटियों को शमशान तक जाना वर्जित है। समाज में एक परिपाटी बन गई है कि बेटियां घर की देहरी के बाहर नहीं जा सकती हैं और ना ही अपने परिजनों की अर्थी को कंधा दे सकती हैं। लेकिन शनिवार को स्वर्गीय अवध राज तिवारी की बेटियों ने पिता की अर्थी को कंधा लगाकर घर से शमशान तक पहुंचाया और श्मशान में अपने पिता को मुखाग्नि दी। ऐसा करके इन बेटियों ने समाज में महिलाओं के प्रति बंधीं बेड़ियों को भी तोड़ने का प्रयास किया। रुंधे गले और आसुओं के बीच बेटियों ने इस पढ़े लिखे समाज को एक नई दिशा देने का प्रयास किया कि समाज के लोगों बेटी और बेटों में फर्क नहीं होता है।
ग्रामीणों के अनुसार स्वर्गीय अवध राज तिवारी की सबसे बड़ी बेटी विंदु का विवाह गोयड़ी तहसील मिल्कीपुर निवासी अरुण द्विवेदी के साथ हुआ है।
दूसरी एवं मझली बेटी रेनू की शादी तेन्धा निवासी देवानंद के साथ हुई है और सबसे छोटी बेटी रोली अभी बीए फाइनल ईयर की छात्रा है।
बताया गया कि अवधराज तिवारी का इलाज टाटा मेमोरियल मुंबई से करीब 10 महीने से चल रहा था। उनकी मृत्यु शनिवार की सुबह करीब 05 बजे हुई। उनकी पत्नी की मृत्यु पहले ही हो चुकी है

publicnewslive
Author: publicnewslive

[the_ad id="228"]

इन्हे भी जरूर देखे