Public News Live

वर्क कल्चर एक ऐसी व्यवस्था है जो भारतीय समाज पर बुरी तरह हावी है

–: वर्क कल्चर :

वर्क कल्चर एक ऐसी व्यवस्था है जो भारतीय समाज पर बुरी तरह हावी है

आदिकाल से ही लोगों के मन में यह डाल दिया जाता है कि कुछ जाति विशेष का वह काम है इसलिए वह काम और जाति विशेष के लोगों को ही करना चाहिए लेकिन आज के समय में यह जातियों तक ही सीमित नहीं है यह व्यवस्था अमीर गरीब शिक्षित अशिक्षित किसान व्यापारी ऊंचे और नीची वर्ण की जातियां आदि पर यह हावी है
उदाहरण के तौर पर—
• अगर कोई व्यक्ति समृद्ध परिवार का है वह घर के सामने सफाई के लिए झाड़ू लगा रहा है तो लोग देखकर असमंजस में पड़ जाएंगे अरे! झाड़ू लगा रहा है इसका काम तो है ही नहीं
•अगर कोई समृद्ध परिवार का बच्चा अपनी पढ़ाई के साथ साथ कोई काम जैसे सुबह-सुबह न्यूज़पेपर फेंकना, बड़े होटल में कोई काम इत्यादि कर रहा हो तो हम उसे अरे! आह! कैसे! की नजरों से देखते हैं
लेकिन ऐसा अमेरिका जैसे देशों में नहीं है यहां होटल में जाकर काम कर लेते हैं पेट्रोल पंप में जाकर काम कर लेते हैं वहां वर्क कल्चर नहीं है लेकिन हमारे यहां काम छोटा बड़ा होता है इसीलिए हम यह सोचते हैं कि हमारे यहां की गंदगी साफ करने के लिए जाति विशेष के लोग आएंगे
समाजवादी देशों में एक ऐसा कल्चर आ गया आप झाड़ू लगाते हैं आप पेपर डालते हैं आप पेट्रोल पंप पर काम करते हैं आप उद्योगों में काम करते हैं लेकिन आपके पढ़ने के लिए बच्चों के विद्यालय एक समान होंगे आपको हॉस्पिटल वही मिलेगा जो एक एलिट को मिलेगा आपको आवास वैसे ही मिलेगा जो एलिट को मिलेगा
तो अगर हमें आवास शिक्षा हॉस्पिटल और समाज में कोई दुराव ना हो तो निश्चित रूप से हर आदमी काम करने के लिए आगे बढ़ेगा

"कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता बस हमारी सोच छोटी बड़ी होती है"

✍️सत्येंद्र कुमार

publicnewslive
Author: publicnewslive

[the_ad id="228"]

इन्हे भी जरूर देखे