Public News Live

गोंडा: पुलिस विभाग का लव जिहादी दारोगा धरा गया,दुष्कर्म के आरोपी दरोगा को वादकारी व वकीलों ने पीटा

गोंडा: पुलिस विभाग का लव जिहादी दारोगा धरा गया,दुष्कर्म के आरोपी दरोगा को वादकारी व वकीलों ने पीटा
➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖

गोंडा

=====गोंडा धर्म व नाम बदलकर एक युवती को अपने प्रेम जाल में फंसा कर 3 साल तक शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोपी दरोगा को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
मजहब और नाम छिपाकर युवती को प्रेमजाल में फंसा कर दो साल तक दुष्कर्म करने के आरोपी दरोगा वसीम अहमद को गुरुवार दोपहर पेशी के दौरान जनपद न्यायालय परिसर में वादकारी व वकीलों ने पीट दिया।
मजहब और नाम छिपाकर युवती को प्रेमजाल में फंसा कर दो साल तक दुष्कर्म करने के आरोपी दरोगा वसीम अहमद को गुरुवार दोपहर पेशी के दौरान जनपद न्यायालय परिसर में वादकारी व वकीलों ने पीट दिया। बता दें कि पुलिस लाइन में तैनात दरोगा वसीम अहमद के खिलाफ नगर कोतवाली में एक युवती की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है।
आरोप था कि दरोगा वसीम अहमद ने अपना नाम और धर्म छुपा कर उसके साथ प्रेम प्रसंग किया और फिर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करता रहा। युवती ने जब शादी का दबाव बनाया तो तो दरोगा ने उसे जान से मारने का प्रयास भी किया। कोतवाली नगर में शिकायत करने गई पीड़िता को वसीम अहमद की असलियत मालूम हुई।
इसके बाद उसने पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। एसपी के निर्देश पर नगर कोतवाली में दरोगा वसीम अहमद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे निलंबित कर दिया गया। गुरुवार सुबह जांच के बाद आरोपी दरोगा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि नगर कोतवाली पुलिस आरोपी दरोगा को जनपद न्यायालय में पेश करने जा रही थी। इसी दौरान वहां मौजूद कुछ वादकारी और वकीलों ने उसकी पिटाई कर दी।
इससे कुछ देर के लिए वहां अफरा-तफरी मच गई। हालांकि बाद में पहुंचे वरिष्ठ अधिकारियों के हस्तक्षेप से किसी तरह आरोपी दरोगा को सुरक्षित किया गया। एएसपी शिवराज ने कहा अब स्थिति सामान्य है और आरोपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच न्यायालय में पेश किया जाएगा। जांच के बाद पिटाई मामले में प्रभावी कार्रवाई की जाएगी।
युवती ने बताया कि दरोगा ने पहले उससे शादी का ऑफर दिया। जब मेरी व उसकी रिलेशनशिप चलने लगी। तो उसने कुछ दिनों तक शादी की बात को टालता रहा। कहां की शादी कर ली जाएगी अभी कुछ समस्या है। युवती का आरोप है कि उसने हमेशा अपना नाम उसे रिंकू शुक्ला बताता रहा। वर्दी पहनने के बाद कभी भी वह उसके सामने नेम प्लेट नहीं लगाता था। एक दिन उसने उसे नेमप्लेट लगाए हुए देख लिया। तब उसे जानकारी हुई कि यह दूसरे समुदाय का है।
उसने कहा कि मेरे द्वारा यह मुद्दा उस समय इसलिए नहीं उठाया गया कि तब तक हम इनके रिलेशनशिप में आ चुके थे। हम तो मजबूर होकर जब इसने क्वार्टर छोड़ दिया अपना मोबाइल नंबर भी बदल लिया। उसके बाद एक दिन हमने इन्हें दूसरी लड़की के साथ देखा इसके बाद हम ने यह कदम उठाया। कि मेरे जैसा हाल किसी अन्य लड़की का ना हो। और इसके द्वारा किए गए अपराध की सजा इसे जरूर मिले।

publicnewslive
Author: publicnewslive

[the_ad id="228"]

इन्हे भी जरूर देखे